Basti News: असली के बदले नकली नोट देने वाले गुट का खुलासा – असली के बदले नकली नोट देने वाले गिरोह का पर्दाफाश

एटा। असली नोट के बदले पकना नोट देने का झांसा देकर ठगी करने वाले एक गुट का मुंडेरवा पुलिस ने स्वात टीम के सहयोग से परदाफाश किया है। गिरोह के सरगना समेत तीन पंच गिरफ्तार किए गए हैं। उनके व्यवसाय से होमगार्ड की वर्दी, बाइक, तमंचा, बाइक आदि बरामद की गई है। पकड़े गए शातिरों का एक साथी बहरा है, जिसकी तलाश में पुलिस जुटी हुई है।

चार्ज इंस्पेक्टर मुंडेरवा अरविंद कुमार शाही ने बताया कि इस गैंग ने शुक्रवार की रात मुंडेरवा रेलवे स्टेशन पर एक व्यक्ति को लदान लाख रुपये मूल नोट देने के बदले छह लाख के पकना नोट देने के लिए बुलाया था। वह व्यक्ति एक लाख रुपये लेकर था। उससे गुट के लोगों ने रुपये ले लिया। इसी बीच उसी समय इन अज्ञात के एक व्यक्ति होमगार्ड की वर्दी पहनकर पहुंचे। बाकी सभी शोर मचाने लगे कि भागो-भागो पुलिस आ गई। इतना नंबर ही रुपये देने वाला वहां से भाग गया। इसी बीच पुलिस को इन्फॉर्मर से सूचना मिली। एस रोस्टरा मुंडेरवा की टीम के अलावा स्वात टीम के प्रभार उमाशंकर तिवारी की टीम ने शनिवार को दबिश देकर गुट के तीन फिक्स को पकड़ लिया। पकड़ी गई फ़ाइलों में पवन पांडेय निवासी घटाहां थाना कोतवाली खलीलाबाद संतकबीरनगर, भुवन चन्द निवासी चौधरी खंता ससना थाना मुंडेरवा जनपद तय और अशोक कुमार मौर्या निवासी बुधनी बाजारजंगलपुर थाना खोडारे जनपद गोंडा शामिल हैं। तलाशी में इनके पास से कोई नोट बरामद नहीं हुआ।

भागो-भागो पुलिस आ गई

गुट के सरगना अशोक मौर्या ने पुलिस को बताया कि इससे पहले वह गुट के लोगों के साथ दो लोगों से एक-एक लाख रुपये लेकर इस तरह की ठगी कर चुका है। उसके पास कोई नोट नहीं रहता था। सिर्फ लोगों को झांसा देता था कि उसके पास वास्तविक दिखने वाली काफी संख्या में पांच-पांच सौ रुपये की जाली नोट है। उससे मूल लदान लाख रुपये छह लाख रुपये देने का सौदा करता था। इसके बाद उसे बताएं कि उसे नोट देने के लिए बुलता था। नोट लेकर पहुंचने पर वह लोग पहले रुपये ले लेते थे। उसी समय उनका एक साथी होमगार्ड की वर्दी पहनकर वहां पहुंचा। उसके सभी शोर मचाने के बाद भागो-भागो पुलिस आ गई। रुपये देने वाला भाग गया था और फंसने के डर के मारे पुलिस ने शिकायत भी नहीं की थी।

इस तरह फँसते थे

पूछताछ में उसने बताया कि वह सभी लोगों के पैकेट के ऊपर और नीचे एक-एक नोट पकड़े हुए व्यक्ति को दिखा रहा था। उन्हें यह समझाते थे कि इसी तरह से उनके पास काफी गड्डियां हैं। सामने वाला लालच में आकर उनकी बातें करने लगा। वह रुपये लेकर जब आता था तो यह लोग पुलिस आने का शोर मचाते थे।



Source by [author_name]

Leave a Comment